Archives

2015

Vol 1, No 1 (2015): VOL-1_ISSUE-01_FEBRUARY_2015

साहित्य संहिता में प्रकाशित सभी लेखों का आप अपने अध्ययन व् शोध कार्य में उचित सन्दर्भ के साथ प्रयोग कर सकते है. इसके लिए कोई लिखित अनुमति की जरुरत नहीं है.

Vol 1, No 2 (2015): VOL-1_ISSUE-02_MARCH_2015

साहित्य संहिता में प्रकाशित सभी लेखों का आप अपने अध्ययन व् शोध कार्य में उचित सन्दर्भ के साथ प्रयोग कर सकते है. इसके लिए कोई लिखित अनुमति की जरुरत नहीं है.

Vol 1, No 3 (2015): ISSUE-03_APRIL_2015

साहित्य संहिता में प्रकाशित सभी लेखों का आप अपने अध्ययन व् शोध कार्य में उचित सन्दर्भ के साथ प्रयोग कर सकते है. इसके लिए कोई लिखित अनुमति की जरुरत नहीं है.

Vol 1, No 4 (2015): VOL-1_ISSUE-04_MAY_2015

साहित्य संहिता में प्रकाशित सभी लेखों का आप अपने अध्ययन व् शोध कार्य में उचित सन्दर्भ के साथ प्रयोग कर सकते है. इसके लिए कोई लिखित अनुमति की जरुरत नहीं है.

Vol 1, No 5 (2015): VOL-1_ISSUE-05_JUNE_2015

साहित्य संहिता में प्रकाशित सभी लेखों का आप अपने अध्ययन व् शोध कार्य में उचित सन्दर्भ के साथ प्रयोग कर सकते है. इसके लिए कोई लिखित अनुमति की जरुरत नहीं है.

Vol 1, No 6 (2015): VOL-1_ISSUE-06_JULY_2015

साहित्य संहिता में प्रकाशित सभी लेखों का आप अपने अध्ययन व् शोध कार्य में उचित सन्दर्भ के साथ प्रयोग कर सकते है. इसके लिए कोई लिखित अनुमति की जरुरत नहीं है.

Vol 1, No 7 (2015): VOL-1_ISSUE-07_August_2015

साहित्य संहिता में प्रकाशित सभी लेखों का आप अपने अध्ययन व् शोध कार्य में उचित सन्दर्भ के साथ प्रयोग कर सकते है. इसके लिए कोई लिखित अनुमति की जरुरत नहीं है.

Vol 1, No 8 (2015): VOL-1_ISSUE-08_September_2015

साहित्य संहिता में प्रकाशित सभी लेखों का आप अपने अध्ययन व् शोध कार्य में उचित सन्दर्भ के साथ प्रयोग कर सकते है. इसके लिए कोई लिखित अनुमति की जरुरत नहीं है.

Vol 1, No 10 (2015): VOL-1_ISSUE-10_November_2015

साहित्य संहिता में प्रकाशित सभी लेखों का आप अपने अध्ययन व् शोध कार्य में उचित सन्दर्भ के साथ प्रयोग कर सकते है. इसके लिए कोई लिखित अनुमति की जरुरत नहीं है.

Vol 1, No 11 (2015): VOL-1_ISSUE-11_December_2015

साहित्य संहिता में प्रकाशित सभी लेखों का आप अपने अध्ययन व् शोध कार्य में उचित सन्दर्भ के साथ प्रयोग कर सकते है. इसके लिए कोई लिखित अनुमति की जरुरत नहीं है.

2016

Vol 2, No 01 (2016): VOL-02_ISSUE-01_January_2016

साहित्य संहिता में प्रकाशित सभी लेखों का आप अपने अध्ययन व् शोध कार्य में उचित सन्दर्भ के साथ प्रयोग कर सकते है. इसके लिए कोई लिखित अनुमति की जरुरत नहीं है.

Vol 2, No 2 (2016): VOL-02_ISSUE-02_February_2016

साहित्य संहिता में प्रकाशित सभी लेखों का आप अपने अध्ययन व् शोध कार्य में उचित सन्दर्भ के साथ प्रयोग कर सकते है. इसके लिए कोई लिखित अनुमति की जरुरत नहीं है.

Vol 2, No 3 (2016): VOL-02_ISSUE-03_March_2016

साहित्य संहिता में प्रकाशित सभी लेखों का आप अपने अध्ययन व् शोध कार्य में उचित सन्दर्भ के साथ प्रयोग कर सकते है. इसके लिए कोई लिखित अनुमति की जरुरत नहीं है.

Vol 2, No 4 (2016): VOL-02_ISSUE-04_April_2016

साहित्य संहिता में प्रकाशित सभी लेखों का आप अपने अध्ययन व् शोध कार्य में उचित सन्दर्भ के साथ प्रयोग कर सकते है. इसके लिए कोई लिखित अनुमति की जरुरत नहीं है.

Vol 2, No 6 (2016): VOL-02_ISSUE-6_June_2016

साहित्य संहिता में प्रकाशित सभी लेखों का आप अपने अध्ययन व् शोध कार्य में उचित सन्दर्भ के साथ प्रयोग कर सकते है. इसके लिए कोई लिखित अनुमति की जरुरत नहीं है.

2017

Vol 3, No 5 (2017): VOL-03_ISSUE-05_May_2017

साहित्य संहिता में प्रकाशित सभी लेखों का आप अपने अध्ययन व् शोध कार्य में उचित सन्दर्भ के साथ प्रयोग कर सकते है. इसके लिए कोई लिखित अनुमति की जरुरत नहीं है.

2019

Vol 5, No 01 (2019): Vol-5-Issue-01-January-2019

साहित्य संहिता (Sahitya Samhita)  शोध जर्नल है जिसमे सामाजिक विषय एवं मानविकी के  विषयों से सम्बंधित सभी उपविषयों के मौलिक शोध-पत्र, शोध समीक्षा, विचार, लेखों आदि का भी प्रकाशन किया जाता है। शोधकर्ता हिंदी अथवा अंग्रेजी भाषा में अपने शोध पत्र भेज सकते हैं।


शोध पत्र भेजते समय कृपया निम्न बिन्दुओं पर ध्यान दें -

  1. शोध-पत्र अधिकतम 4000 -5000 शब्दों तक में हों तथा 150 शब्दों का सारांश भी प्रेषित करें।
  2. सन्दर्भ ग्रन्थ सूची का उल्लेख अवश्य करें।  सन्दर्भ ग्रन्थ सूची में लेखक का उपनाम, मुख्य नाम, पुस्तक का नाम, प्रकाशन का वर्ष एवं पृष्ठ संख्या अंकित होना चाहिए। पत्रिका के सन्दर्भ में लेख का शीर्षक, पत्रिका का नाम, अंक, पृष्ठ क्रम एवं प्रकाशन वर्ष दें।
  3. शोध-पत्र A -4 साइज़ के कागज पर कंप्यूटर से एक तरफ मुद्रित हो।
  4. शोध-पत्र Microsoft Office Word अथवा  Page maker में  हिंदी में Krutidev 10   के Font Size 12  तथा अंग्रेजी में Time New Roman Font Size 10 में टाइप करवाकर भेजें।
  5. ई-मेल द्वारा प्रपत्र भेजने पर भी आलेख तीन प्रतियों में (Hard Copy) तथा सीडी में अवश्य भेजें।
  6. शोध पत्रों की  स्वीकृति एवं अस्वीकृति का अंतिम निर्णय सम्बंधित विषय के दो विशेषज्ञो कि अनुशन्सा ( Expert comments of Referees) से संपादक मण्डल द्वारा लिया जाता है। इस संबन्ध में अन्तिम अधिकार संपादक को प्राप्त है जो सभी सदस्यो  को मान्य होगा। शोध पत्र प्रथम दृष्ट्या स्वीकृत  हो जाने पर लेखक को समीक्षा
  7. शोध पत्र के प्रकाशन हेतु संपादक के नाम पत्र होना चाहिए, जिसमें स्पष्ट रूप से शोध पत्र के सम्बन्ध में " मौलिक एवं अप्रकाशित " शब्द लिखा होना चाहिए और इसे अन्यत्र न भेजे जाने की पुष्टि हो । इस सम्बन्ध में वेबसाइट पर उपलब्ध certification of originality डाउनलोड करें एवं उसे आलेख के साथ प्रेषित करें.
  8. शोध पत्र में सारणी एवं चित्रों का प्रयोग लेख के बीच में न करते हुए  अंत में सन्दर्भ या संलग्नक के रूप में करें।
  9. शोध पत्र ई-मेल द्वारा निम्न ई-मेल पते पर अथवा डाक द्वारा निम्न सम्पादकीय  कार्यालय पर भेजा जा सकता है:-

editor@sahityasamhita.org


2017

Vol 4, No 2 (2017): Vol-04-Issue-02-February-2018

Our aim is to full fill the need of researchers and inculcate new and relevant trends in research work as-well-as provide platform to publish your research work especially in the filled of Humanities & Social Science.

  • To maintain Humanities And Social Science Researches Data Base
  • To Provide Link Between Supervisor And Research Student
  • Information About Seminars And Their Reporting
  • E-Publication Of Doctoral/Post Doctoral Research’s Abstracts and thesis
  • To Provide Information About Major Research Projects
  • Publication Of Research Journal For Research Scholars And Supervisors Of Humanities And Social Science
  • Encourage Good Research Providing Various Information’s And Platform

Vol 3, No 4 (2017): VOL-03_ISSUE-04_APRIL_2017

साहित्य संहिता में प्रकाशित सभी लेखों का आप अपने अध्ययन व् शोध कार्य में उचित सन्दर्भ के साथ प्रयोग कर सकते है. इसके लिए कोई लिखित अनुमति की जरुरत नहीं है.

Vol 4, No 12 (2017): Vol-04-Issue-12-December-2018

Sahitya Samhita's aim is to full fill the need of researchers and inculcate new and relevant trends in research work as-well-as provide platform to publish your research work especially in the filled of Humanities & Social Science.

  • To maintain Humanities And Social Science Researches Data Base
  • To Provide Link Between Supervisor And Research Student
  • Information About Seminars And Their Reporting
  • E-Publication Of Doctoral/Post Doctoral Research’s Abstracts and thesis
  • To Provide Information About Major Research Projects
  • Publication Of Research Journal For Research Scholars And Supervisors Of Humanities And Social Science
  • Encourage Good Research Providing Various Information’s And Platform

Vol 4, No 01 (2017): Vol-4-Issue-01-January-2018

Our research journal’s contents are:

शोध संचयन के स्तम्भ (Column)-

शोध आलेख (Peer Reviwed Research Articles)

शोध सम्भावना (Articles Regarding Research Insight for New Researchers, New Trends and Innovations in the Field of Humanities and Social Science Research)

शोध विधा (Articles Regarding Research Methodology and thier Different Dimensions)

शोध परियोजना (Reports of Research Projects)

शोध समाचार एवं गतिविधियाँ (Information about Seminar/ Workshop/ Symposia/ Conference and thier Reportings, Research News and Notifications)

शोध सारांश (Research Abstracts)

शोध विमर्श (Discourse on New Trends, Pros & Cons of Humanities and Social Science Research)

शोध समीक्षा (Review of Awarded Thesis)

शोध साधना (Research Experience of the earlier Researchers)

शोध प्रकाशन (Review of Research Publications)

Vol 3, No 3 (2017): Vol-03_Issue-03_MARCH_2017

साहित्य संहिता पत्रिका का प्राइम फोकस हिंदी की पढ़ाई से संबंधित लेख प्रकाशित करने के लिए है। यह पत्रिका हिन्दी अनुसंधान में छात्रों और कर्मियों को प्रेरित करने के उद्देश्य के साथ मंच प्रदान करता है। हिन्दी साहित्यए प्राचीन भारतीय विज्ञान (हिन्दी में), संगणना भाषा विज्ञान, संस्कृति, महाकाव्य, व्याकरण, इतिहास, भारतीय सौंदर्य और राजनीति, पुराणों, धर्म, साहित्य, वेद, वैदिक अध्ययन, बौद्ध साहित्य, भारतीय और पश्चिमी तार्किक सिस्टम, भारतीय प्रवचन विश्लेषण, भारतीय दर्शन, भारतीय सामाजिक-राजनीतिक चिंतन, प्दकवसवहपबंस अध्ययन, जैन साहित्य, हिंदू ज्योतिष ।

Vol 4, No 11 (2017): Vol-4-Issue-11-November-2018

Sahitya Samhita शोध जर्नल है जिसमे सामाजिक विषय एवं मानविकी के  विषयों से सम्बंधित सभी उपविषयों के मौलिक शोध-पत्र, शोध समीक्षा, विचार, लेखों आदि का भी प्रकाशन किया जाता है। शोधकर्ता हिंदी अथवा अंग्रेजी भाषा में अपने शोध पत्र भेज सकते हैं।

शोध पत्र भेजते समय कृपया निम्न बिन्दुओं पर ध्यान दें -

  1. शोध-पत्र अधिकतम 4000 -5000 शब्दों तक में हों तथा 150 शब्दों का सारांश भी प्रेषित करें।
  2. सन्दर्भ ग्रन्थ सूची का उल्लेख अवश्य करें।  सन्दर्भ ग्रन्थ सूची में लेखक का उपनाम, मुख्य नाम, पुस्तक का नाम, प्रकाशन का वर्ष एवं पृष्ठ संख्या अंकित होना चाहिए। पत्रिका के सन्दर्भ में लेख का शीर्षक, पत्रिका का नाम, अंक, पृष्ठ क्रम एवं प्रकाशन वर्ष दें।
  3. शोध-पत्र A -4 साइज़ के कागज पर कंप्यूटर से एक तरफ मुद्रित हो।
  4. शोध-पत्र Microsoft Office Word अथवा  Page maker में  हिंदी में Krutidev 10   के Font Size 12  तथा अंग्रेजी में Time New Roman Font Size 10 में टाइप करवाकर भेजें।
  5. ई-मेल द्वारा प्रपत्र भेजने पर भी आलेख तीन प्रतियों में (Hard Copy) तथा सीडी में अवश्य भेजें।
  6. शोध पत्रों की  स्वीकृति एवं अस्वीकृति का अंतिम निर्णय सम्बंधित विषय के दो विशेषज्ञो कि अनुशन्सा ( Expert comments of Referees) से संपादक मण्डल द्वारा लिया जाता है। इस संबन्ध में अन्तिम अधिकार संपादक को प्राप्त है जो सभी सदस्यो  को मान्य होगा। शोध पत्र प्रथम दृष्ट्या स्वीकृत  हो जाने पर लेखक को समीक्षा शुल्क 700/- (आजीवन सदस्यों के लिए प्रथम शोध आलेख हेतु निःशुल्क ) प्रेषित करना होगा।
  7. शोध पत्र के प्रकाशन हेतु संपादक के नाम पत्र होना चाहिए, जिसमें स्पष्ट रूप से शोध पत्र के सम्बन्ध में " मौलिक एवं अप्रकाशित " शब्द लिखा होना चाहिए और इसे अन्यत्र न भेजे जाने की पुष्टि हो । इस सम्बन्ध में वेबसाइट पर उपलब्ध certification of originality डाउनलोड करें एवं उसे आलेख के साथ प्रेषित करें.
  8. शोध पत्र में सारणी एवं चित्रों का प्रयोग लेख के बीच में न करते हुए  अंत में सन्दर्भ या संलग्नक के रूप में करें।
  9. शोध पत्र ई-मेल द्वारा निम्न ई-मेल पते पर अथवा डाक द्वारा निम्न सम्पादकीय  कार्यालय पर भेजा जा सकता है:-

Vol 3, No 2 (2017): VOL-03_ISSUE-02_FEBRUARY_2017

पत्रिका का प्राइम फोकस हिंदी की पढ़ाई से संबंधित लेख प्रकाशित करने के लिए है। यह पत्रिका हिन्दी अनुसंधान में छात्रों और कर्मियों को प्रेरित करने के उद्देश्य के साथ मंच प्रदान करता है। हिन्दी साहित्यए प्राचीन भारतीय विज्ञान (हिन्दी में), संगणना भाषा विज्ञान, संस्कृति, महाकाव्य, व्याकरण, इतिहास, भारतीय सौंदर्य और राजनीति, पुराणों, धर्म, साहित्य, वेद, वैदिक अध्ययन, बौद्ध साहित्य, भारतीय और पश्चिमी तार्किक सिस्टम, भारतीय प्रवचन विश्लेषण, भारतीय दर्शन, भारतीय सामाजिक-राजनीतिक चिंतन, प्दकवसवहपबंस अध्ययन, जैन साहित्य, हिंदू ज्योतिष ।

1 - 25 of 47 Items     1 2 > >>